Daily Current Affairs 4 May, 2019 in Hindi

Daily Current Affairs 4 May, 2019 in Hindi

डेली करेंट अफेयर्स 4 मई, 2019

1. विश्व भर में प्रेस पर बढ़ रहा दबाव : अंतर्राष्ट्रीय प्रेस संस्थान

  • वियना में स्थित अंतर्राष्ट्रीय प्रेस संस्थान ने हाल ही में अपनी नयी रिपोर्ट से कहा है कि मई, 2018 के बाद से 55 पत्रकारों की हत्या की गयी है।
  • विश्व भर में प्रेस की स्वतंत्रता पर काफी अधिक दबाव है। विश्व भर में सरकारों द्वारा प्रेस की स्वतंत्रता को कम करने के लिए क़ानून पारित किये जा रहे हैं।
  • 3 मई को प्रेस स्वतंत्रता के मौलिक सिद्धांतों का जश्न मनाने के साथ-साथ दुनिया भर में प्रेस की आजादी का मूल्यांकन करने हेतु हर साल विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।
  • यह दिवस मीडिया की आजादी पर हमलों से मीडिया की रक्षा करने तथा मरने वाले पत्रकारों को श्रद्धांजलि अर्पित करने का कार्य करता है। वर्ष 2019 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस का विषय ‘Media for Democracy’ रखा गया है।

अंतर्राष्ट्रीय प्रेस संस्थान

  • अंतर्राष्ट्रीय प्रेस संस्थान एक वैश्विक संस्था है, इसका उद्देश्य प्रेस की स्वतंत्रता को बढ़ावा देना है। इसकी स्थापना अक्टूबर, 1950 में की गयी थी।
  • इसका मुख्यालय ऑस्ट्रिया के विएना में स्थित है। इस संस्थान के विश्व भर में 120 से अधिक सदस्य हैं।

स्मरणीय तथ्य :-

प्रश्न – अंतर्राष्ट्रीय प्रेस संस्थान कहां पर स्थित है?

उत्तर — वियना में

— डेन्यूब के किनारे स्थित वियना इंटरनेशनल सेंटर विश्व की बहुत से प्रमुख संस्थाओं के दफ्तरों का एकीकृत स्थान है। वियना शहर ऑस्ट्रिया के बिल्कुल पूर्व में स्थित है एवं चेक गणराज्य, स्लोवाकिया एवं हंगरी से इसकी सीमाएं मिलती हैं।

2. जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ़

  • हाल ही में 25 प्रभावशाली कानून निर्माताओं के समूह ने अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि रोबर्ट लाइटजर से GSP को समाप्त न करने की गुज़ारिश की है।
  • 3 मई, 2019 को नोटिस की 60 दिन की अवधि समाप्त हो गयी थी। भारत के लिए GSP समाप्त करने से भारत को निर्यात करने वाली अमेरिकी कंपनियों को भी नुकसान होगा।
  • कानून निर्माताओं ने इस प्रकार के सौदे पर वार्ता करने के लिए कहा है जिससे आयात और निर्यात दोनों के द्वारा नौकरियों में वृद्धि हो।
  • राष्ट्रपति ट्रम्प ने 4 मार्च को कहा था कि अमेरिका भारत के लिए GSP कार्यक्रम को समाप्त करेगा।

भारत के साथ व्यापार पर असर

  • भारत को जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ़ प्रेफेरेंस (GSP) की सुविधा समाप्त करने से लगभग 2,000 भारतीय उत्पादों को निशुल्क प्रवेश की सुविधा नहीं मिल पाएगी।
  • इससे छोटे व मझौले उद्योगों को काफी नुकसान हो सकता है। इससे अमेरिका में भारतीय निर्यातों पर भी विपरीत प्रभाव पड़ेगा।

स्मरणीय तथ्य :-

— जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ़ प्रेफेरेंस (GSP) की स्थापना 1976 में व्यापार अधिनियम, 1974 के तहत की गयी थी। यह अमेरिका का एक व्यापारिक कार्यक्रम है। इसका उद्देश्य विकासशील देशों के आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है। इसके तहत 129 देशों के 4,800 उत्पादों को निशुल्क प्रवेश की सुविधा प्रदान की जाती है।

3. रक्षा मंत्रालय ने कामोव-31 हेलिकॉप्टर की खरीद को मंज़ूरी दी

  • केन्द्रीय रक्षा मंत्रालय ने रूस से 10 कामोव-31 हेलिकॉप्टर खरीदे जाने के प्रस्ताव को मंज़ूरी दी है, यह 10 हेलिकॉप्टर 3600 करोड़ रुपये में खरीदे जायेंगे।
  • गौरतलब है कि यह हेलिकॉप्टर भारतीय नौसेना के लिए खरीदे जायेंगे। यह निर्णय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में रक्षा अधिग्रहण परिषद् की बैठक में लिया गया।
  • भारतीय नौसेना के पास पहले से 12 कामोव-31 हेलिकॉप्टर मौजूद हैं। पनडुब्बी रोधी ऑपरेशन के लिए नौसेना के पास कामोव-28 हेलिकॉप्टर मौजूद हैं।

रक्षा अधिग्रहण परिषद् (DAC)

  • रक्षा अधिग्रहण परिषद् का गठन सैन्य सामान शीघ्रता से प्राप्त करने के लिए वर्ष 2001 में सरकार द्वारा किया गया था।
  • इसकी अध्यक्षता रक्षा मंत्री द्वारा की जाती है। DAC सैन्य सामान के अधिग्रहण के लिए दिशानिर्देश भी जारी करता है।

स्मरणीय तथ्य :-

प्रश्न – भारत के वर्तमान (2019) रक्षा मंत्री कौन हैं?

उत्तर — निर्मला सीतारमण

— कामोव-31 हेलिकॉप्टर : कामोव-31 हेलिकॉप्टर एक रूसी हेलिकॉप्टर है, इसका इस्तेमाल रूस, चीन तथा भारत जैसे देश करते हैं। इसमें एक बड़ा ऐन्टेना तथा अर्ली-वार्निंग राडार लगा होता है। कामोव-31 में पहली उड़ान 1987 में भरी थी। 1995 में इसका पूर्ण स्वरुप प्रसुत किया गया। इसका एयरफ्रेम कामोव-का-27 पर आधारित है।

4. बजरंग पूनिया ने अली अलिएव कुश्ती प्रतियोगिता में जीता स्वर्ण पदक

  • भारत के स्टार पहलवान बजरंग पूनिया ने अली अलिएव कुश्ती प्रतियोगिता में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए स्वर्ण पदक जीता।
  • इसके साथ ही बजरंग पूनिया अली अलिएव प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय बन गये है।
  • बजरंग पूनिया ने फाइनल में 65 किलोग्राम भार वर्ग में फ्रीस्टाइल में रूस के विक्टर रस्सादिन को पराजित किया।

बजरंग पूनिया

  • बजरंग पूनिया एक सुप्रसिद्ध पहलवान हैं, उनका जन्म 26 फरवरी, 1994 को हरियाणा के झज्जर में हुआ था। गौरतलब है कि हाल ही में बजरंग पूनिया 65 किलोग्राम फ्रीस्टाइल भारवर्ग में विश्व के नंबर 1 पहलवान बने हैं।
  • वर्ष 2013 में उन्होंने एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता, तत्पश्चात इसी वर्ष उन्होंने विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था। वर्ष 2014 में स्कॉटलैंड के ग्लासगो में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में उन्होंने रजत पदक जीता। 2014 में एशियाई खेलों में उन्होंने पुनः रजत पदक जीता।
  • 2014 एशियाई कुश्ती प्रतियोगिता में बजरंग पूनिया ने रजत पदक जीता। एशियाई कुश्ती प्रतियोगिता 2017 में बजरंग पूनिया ने स्वर्ण पदक जीता। वर्ष 2018 में राष्ट्रमंडल खेलों में बजरंग पूनिया ने ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में स्वर्ण पदक जीता।
  • इसके अतिरिक्त 2018 एशियाई खेलों में बजरंग पूनिया ने 65 किलोग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीता।

स्मरणीय तथ्य :-

प्रश्न – हाल ही में किस पहलवान ने अली अलिएव कुश्ती प्रतियोगिता में जीता स्वर्ण पदक है?

उत्तर — बजरंग पूनिया

5. हीना सिधु और अंकुर मित्तल का नाम राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए प्रस्तावित किया गया

नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया (NRAI) ने हीना सिधु और अंकुर मित्तल का नाम राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए प्रस्तावित किया है।

हीना सिधु

  • हीना सिधु ने एशियाई खेलों में तीन पदक जीते हैं, हीना ने 2010 में एशियाई खेलों में रजत पदक तथा 2014 व 2018 में रजत पदक जीते हैं।
  • हीना ने राष्ट्रमंडल खेलों में 2010 में स्वर्ण पदक तथा 2018 में रजत पदक जीता है। 2013 में हीना ISSF में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय पिस्टल शूटर बनीं थीं।
  • 2014 में उन्हें अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया था।

अंकुर मित्तल

  • अंकुर मित्तल ने 2018 राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य पदक जीता था। अंकुर मित्तल ने ISSF विश्व शूटिंग चैंपियनशिप में डबल ट्रैप इवेंट में दो मैडल जीते हैं।
  • उन्होंने 2017 राष्ट्रमंडल शूटिंग चैंपियनशिप में डबल ट्रैप इवेंट में स्वर्ण पदक जीता था। 2018 में उन्हें अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया था।

स्मरणीय तथ्य :-

प्रश्न – नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया (NRAI) ने किन दो खिलाडि़यों का नाम राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए प्रस्तावित किया गया?

उत्तर — हीना सिधु और अंकुर मित्तल

— राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार खेल के क्षेत्र में दिया जाने वाला देश का सर्वोच्च सम्मान है। इस पुरस्कार का नाम भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी के नाम पर रखा गया है। यह पुरस्कार प्रतिवर्ष केन्द्रीय युवा व खेल मामले मंत्रालय द्वारा प्रदान किया जाता है। इस पुरस्कार के विजेता को 7.5 लाख रुपये इनामस्वरुप प्रदान किये जाते हैं। इस पुरस्कार के विजेताओं का चयन मंत्रालय द्वारा चुनी गयी समिति द्वारा किया जाता है।

6. मामलुह गुफा

  • मामलुह गुफा मेघालय में स्थित है। हाल ही में जियोलाजिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया नार्थ ईस्टर्न रीजन ने दो जियोलाजिकल डिस्प्ले बोर्ड स्थापित किये हैं।
  • इनका उद्देश्य पर्यटकों में इस स्थान के महत्त्व के बारे में जागरूकता फैलाना है। यह दो बोर्ड मेघालय के ईस्ट खासी हिल जिले के मामलुह गुफा तथा थेरियाघाट, सोभर में स्थापित किये गये हैं।
  • मामलुह गुफा में स्थित स्टैलगमाईट को ग्लोबल स्ट्रेटोटाइप सेक्शन एंड पॉइंट (GSSP) के रूप में टैग किया गया है।
  • यह भारत में जियोलाजिकल टाइम का प्रथम औपचारिक मार्कर है। थेरियाघाट सेक्शन में उम-सोहरिंगकेव नदी के द्वारा क्रीटेशियस पेलियोजीन सीमा रूपांतरण के बारे में जानकारी मिलती है।
  • इस सीमा से इरीडियम धातु के उच्च स्तरों की मौजूदगी के बारे में पता चलता है, इसके द्वारा विशालकाय उल्कापिंड के पृथ्वी पर गिरने की जानकारी मिलती है।
  • मेघालयन काल की शुरुआत 4200 वर्ष पूर्व हुई थी, इस दौरान वृहत पर सूखे की स्थिति तथा शीत काल की स्थिति उत्पन्न हुई थी।

भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (GSI)

  • भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण की स्थापना 1851 में की गयी थी। यह संगठन भारत में भू-सर्वेक्षण तथा अध्ययन का कार्य करता है।
  • इसका मुख्यालय कलकत्ता में स्थित है। इसकी स्थापना आरम्भ में ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा की गयी थी।
  • इसकी स्थापना का उद्देश्य भारत के पूर्वी हिस्से में कोयला क्षेत्रों की खोज करना था। वर्तमान में बिपुल पाठक GSI के कार्यवाहक महानिदेशक हैं।

स्मरणीय तथ्य :-

प्रश्न – मेघालय की राजधानी क्या है?

उत्तर —शिलांग

7. 2018-19 में इराक रहा भारत का सबसे बड़ा कच्चा तेल आपूर्तिकर्ता देश

2018-19 में भारत का सबसे बड़ा कच्चा तेल आपूर्तिकर्ता देश इराक रहा। इराक ने भारत को 2018-19 में 46.61 मिलियन टन कच्चे तेल का निर्यात किया। यह पिछले वर्ष की मुकाबले 2% अधिक हिस्सा है।

मुख्य बिंदु

  • 2017-18 में इराक ने भारत को 45.74 मिलियन टन कच्चे तेल का निर्यात किया था।
  • सऊदी अरब भारत का दूसरा सबसे बड़ा कच्चा तेल आपूर्तिकर्ता रहा।
  • ईरान भारत का तीसरा तथा संयुक्त अरब अमीरात चौथा सबसे बड़ा कच्चा तेल आपूर्तिकर्ता देश रहा।
  • अमेरिकी प्रतिबंधों के बावजूद ईरान ने 2018-19 में भारत को 24 मिलियन टन कच्चे तेल का निर्यात किया, इसमें पिछले वर्ष के मुकाबले 6.24% की वृद्धि हुई।

स्मरणीय तथ्य :-

प्रश्न – 2018-19 में भारत का सबसे बड़ा कच्चा तेल आपूर्तिकर्ता देश कौनसा रहा?

उत्तर — इराक

8. इसरो के पूर्व चेयरमैन को फ्रांस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान प्रदान किया

  • इसरो के पूर्व चेयरमैन को फ्रांस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान शेवलिएर डी ली ‘ओर्द्रे नेशनल डी ला लीजन डी’ हॉनर प्रदान किया गया।
  • उन्हें यह सम्मान भारत-फ्रांस अन्तरिक्ष सहयोग के लिए दिया गया है। ए.एस. किरण कुमार 2015 से 2018 के बीच इसरो के अध्यक्ष रहे।

लीजन डी’ऑनर

  • यह फ्रांस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है, यह सम्मान किसी भी देश के नागरिक को फ्रांस की उत्कृष्ठ सेवा के लिए दिया जाता है।
  • इस सम्मान की स्थापना वर्ष 1802 में नेपोलियन बोनापार्ट ने की थी। इस सम्मान की पांच डिग्री हैं : शेवलिएर (योद्धा), ओफिसिएर (अफसर), कोमंदयूर (कमांडर), ग्रैंड ओफिसिएर (ग्रैंड ऑफिसर) तथा ग्रैंड क्रोइक्स (ग्रैंड क्रॉस)। अभिनेता शाहरुख़ खान और अमिताभ बच्चन को वर्ष 2007 और 2014 में इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • इस पुरस्कार से अमर्त्य सेना, रवि शंकर, जुबिन मेहता, लता मंगेशकर, जेआरडी टाटा तथा रतन टाटा जैसे भारतीय नागरिकों को लीजन डी’हॉनर से सम्मानित किया जा चुका है।

स्मरणीय तथ्य :-

— ए.एस. किरण कुमार का जन्म 22 अक्टूबर,1952 को कर्नाटक में हुआ था। उन्होंने भारतीय विज्ञान संस्थान, बंगलुरु से पढ़ाई की। वे 2015 से 2018 तक इसरो के चेयरमैन रहे। उन्होंने चंद्रयान-1 और मंगलयान मिशन में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। पहले उन्होंने अहमदाबाद के स्पेस एप्लीकेशन सेंटर में निदेशक के रूप में कार्य किया था। उन्हें 2014 में पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *